ए पी जे अब्दुल कलाम के सफलता के पांच मंत्र

आइये जानते हैं ऐ पी जे अब्दुल कलाम  के सफलता के पाँच मंत्र खुद उनकी जुबानी :

-जीवन में एक लक्ष्य बनाइये 
 आप अपने जीवन में एक लक्ष्य बनाएं और उस लक्ष्य के मुताबिक ज्ञान  अर्जित करेंI ज्ञान अर्जित करने के लिए किताबें पढ़िए, नामचीन लोगों से  मुलाकात कर उनके अनुभव जानिएI मशहूर वैज्ञानिक , दार्शनिक,  इतिहासकार, तकनिकी विशेषज्ञों की जीवनी पढ़िएI



-समस्याएं हावी मत होने दीजिये 
 आप अपने ऊपर समस्या को हावी मत होने दीजिये, बल्कि आप समस्या के  कप्तान बनिएI  समस्या आप पर हावी होगी तो आप सफल नहीं हो पाएंगेI  आप सफल केवल तब हो सकते हैं, जब आप समस्या पर हावी होI इसलिए  मेहनत कीजिये और पुरे साहस के साथ हर समस्या का सामना कीजियेI




-एक दिन में कोई बेस्ट नहीं बनता
 श्रेष्ठता एक प्रक्रिया है, जो कई पडाओं से गुज़र कर हासिल होती हैI  सबसे  पहला पड़ाव है अपना आदर्श तय करना, फिर उसके मुताबिक  लक्ष्य तय करना, उन लक्ष्यों पर अडिग रहना, उन्हें पूरा करने के लिए  हर जोखिम उठानाI  जो इन सरे पडाओं को पर करता है, वहीँ बेस्ट  का तमगा हासिल कर पता हI



-इच्छा, सोच और कड़ी मेहनत 
 ये तिन गुण अगर आप में हैं तो आप आसानी से सफल हो सकते हैंI  जानने  की इच्छा, सोचने की क्षमता, ज्ञान हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत  करने की चाहत , ये तिन ऐसे सूत्र हैं, जिन्होंने मुझे राष्ट्रपति भवन  की राह  दिखाईI  ये आपको भी आपकी मंजिल तक पहुंचा सकते हैंI




-चिंतन 
 इश्वर ने इंसान को जो दिमाग दिया है, वो सर्वोत्तम उपहार हैI  इसका उपयोग कीजियेI  याद रखिये सोचना विकाश की निशानी है, न  सोचना विनाश की निशानी हैI


3 comments: